You are currently viewing RISC और CISC में क्या अंतर है !!

RISC और CISC में क्या अंतर है !!

नमस्कार दोस्तों…आज हम आपको “RISC और CISC” अर्थात “Reduced instruction set computer और Complex instruction set computer” के विषय में बताने जा रहे हैं. आज हम आपको बताएंगे कि “RISC और CISC क्या है और इनमे क्या अंतर होता है?”. क्यूंकि अधिकतर लोग इन्हे समझने में थोड़ी गलती कर देते हैं, और एक सा ही समझ लेते हैं. लेकिन इनमे कई अंतर होते हैं. जिन्हे आज हम आपको बताने जा रहे हैं. तो चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक.

RISC क्या है | What is RISC in Hindi !!

RISC का फुल फॉर्म “reduced instruction set computer” होता है. इसका आर्किटेक्चर में कुछ ऐसी प्रक्रिया होती हैं. जिसमें कंप्यूटर के सेट ऑफ़ इन्स्ट्रशन को सुलझा के उनके द्वारा execution टाइम को कम कर दिया जाता है. जिससे execution में कम समय लगता है.  ये एक Single instruction cycle रखता है. और इसमें fixed length instructions होते है. और कुछ ही addressing mode होते हैं. इसमें Pipe lining काफी सरल होती है.

CISC क्या है | What is CISC in Hindi !!

CISC का फुल फॉर्म Complex Instruction Set Computer है. ये assembly language level में large number of complex instructions की आपूर्ति करता है. ये एक multiple instruction cycle रखता है. और इसमें variable length instructions होते है. और multiple addressing mode होते हैं. इसमें Pipe lining difficult होती है. इसमें micro programmed control होता है.

Difference between RISC and CISC in Hindi | RISC और CISC में क्या अंतर है !!

Difference between RISC and CISC in Hindi | RISC और CISC में क्या अंतर है !!

# RISC का पूरा नाम reduced instruction set computer है और CISC का पूरा नाम Complex instruction set computer है.

RISC execution टाइम को reduce करता है और CISC assembly language level में large number of complex instructions की आपूर्ति करता है.

RISC में Single instruction cycle होती है और CISC में multiple instruction cycle होती है.

#  RISC में fixed length instructions होते है और CISC में variable length instructions होते है.

# RISC में few addressing mode होते हैं है और CISC में multiple addressing mode होते हैं.

# RISC में Hardwired control होता है और CISC में micro programmed control होता है.

# RISC Pipe lining काफी सरल होती है और CISC में Pipe lining difficult होती है.

# RISC में अधिक रजिस्टर का प्रयोग होता है और CISC में कम रजिस्टर का प्रयोग होता है.

# RISC में प्रति इंस्ट्रक्शन में 3 ऑपरेंड allow होते हैं और CISC में केवल 1-2 ऑपरेंड allow होते हैं.

उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी होगी. यदि फिर भी कोई गलती आपको नजर आती है तो आप हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के बता सकते हैं. और यदि कोई सुझाव या सवाल आपके मन में हों तो वो भी आप हम से शेयर कर सकते हैं.

Ankita Shukla

✔️ izoozo.com Provide Hindi & English Content Writing Services @ low Cost ✔️अंकिता शुक्ला Oyehero.com की कंटेंट हेड हैं. जिन्होंने Oyehero.com में दी गयी सारी जानकारी खुद लिखी है. ये SEO से जुडी सारे तथ्य खुद हैंडल करती हैं. इनकी रूचि नई चीजों की खोज करने और उनको आप तक पहुंचाने में सबसे अधिक है. इन्हे 4.5 साल का SEO और 6.5 साल का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है !! नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में आपको हमारे द्वारा लिखा गया ब्लॉग कैसा लगा. बताना न भूले - धन्यवाद ??? !!

Leave a Reply