JSP और ASP में क्या अंतर है !!

नमस्कार दोस्तों…आज हम आपको “JSP और ASP” के विषय में बताने जा रहे हैं. आज हम बताएंगे कि “JSP और ASP क्या है और इनमे क्या अंतर होता है?”. लोगों की दोनों के बीच की confusion देखते हुए, हमने सोचा की क्यों न आज इन दोनों के विषय में जानकारी देने की कोशिश की जाये. इसलिए आज हम इस ब्लॉग को आपके लिए लेके आये हैं. तो चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक.

JSP क्या है | What is JSP in Hindi !!

JSP का फुल फॉर्म “Java Server Pages” है, जो कि एक server side technology के रूप में जानी जाती है, जिसका काम dynamic web pages को build करना है. आमतौर पे इसका प्रयोग java web applications के निर्माण के लिए होता है. इतना ही नहीं ये technology java API (Application Program Interface) को आराम से access भी कर सकती है. जिसके जरिये एक java based web applications बनाना काफी आसान सिद्ध होता है.

JSP technology में आप HTML script में java program को include किया जा सकता हैं. एक JSP पेज, HTML और JSP tags के द्वारा बनाया गया होता है. जिसमे आप JSP tags की सहायता से आप java API’s का भी प्रयोग कर सकते हैं. इतना ही नहीं इन्ही tags द्वारा आप कितने भी बड़े program को सरलता से अपने webpage में प्रयोग कर सकते हैं, जिसके जरिये आप एक बेहतर web application बनाने में सक्षम हो जाते हैं, जो पूर्णतः जावा पे होती है.

ASP क्या है | What is ASP in Hindi !!

ASP का फुल फॉर्म “Active Server Pages” है, जो कि server side scripting languages होती है, जिनका प्रयोग web development में होता है. ASP को Microsoft द्वारा बनाया गया है, जो IIS का भाग माना गया है, जो यूजर को tools provides करता है, जिसके जरिये किसी भी Web site को Windows कंप्यूटर पे बनाया जा सकता है.

Difference between JSP and ASP in Hindi | JSP और ASP में क्या अंतर है !!

# JSP का पूरा नाम Java Server Pages है और ASP का पूरा नाम Active Server Pages है.

# JSP, free होती है जबकि ASP, Free नहीं है.

# JSP, Sun Microsystems की है जिसे अब Oracle ने अपने अंडर कर लिया है जबकि ASP, माइक्रोसॉफ्ट का product है.

# JSP code, रन टाइम के समय compile होता है जबकि ASP code रन टाइम के समय interpret होता है, अर्थात JSP code, Compile होता है और ASP code interpret होता है.

# JSP कोड, ASP कोड की अपेक्षा काफी फ़ास्ट होता है और कुछ अंतर भी होते है.

# JSP और ASP दोनों server side scripting लैंग्वेजेज होती हैं.

# Windows के यूजर अधिकतर ASP का प्रयोग करते हैं और open source operating systems यूजर जैसे: Linux के यूजर अधिकतर JSP का प्रयोग करते हैं बाकियों की जगह.

# JSP टेक्नोलॉजी माइक्रोसॉफ्ट द्वारा निर्मित नहीं है, ये programming लैंग्वेज के रूप में Java लैंग्वेज का प्रयोग करता है, इसलिए यदि Java लैंग्वेज जानते हैं तो JSP में अपनी वेबसाइट बनाना आसान होता हैं। और ASP , Visual Basic लैंग्वेज का प्रयोग करती है इसलिए यदि किसी को Visual Basic में प्रोग्राम बनाना आता होता है, तो वो आसानी से ASP पेजेज बना सकता है.

हम आशा करते हैं कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया ब्लॉग पसंद आया होगा और आपको इसके द्वारा मिली जानकारी से भी काफी सहायता प्राप्त हुई होगी। और यदि आपको फिर भी कोई त्रुटि या कमी नजर आती है या आपके मन में कोई सवाल या सुझाव उत्पन्न होता है, तो आप हमे कमेंट बॉक्स में कमेंट के जरिये बता सकते हैं. जिसे हम आगे सुधारने की पूरी कोशिश करेंगे. धन्यवाद !!!

Ankita Shukla :अंकिता शुक्ला Oyehero.com की कंटेंट हेड हैं. जिन्होंने Oyehero.com में दी गयी सारी जानकारी खुद लिखी है. ये SEO से जुडी सारे तथ्य खुद हैंडल करती हैं. इनकी रूचि नई चीजों की खोज करने और उनको आप तक पहुंचाने में सबसे अधिक है. इन्हे 1.5 साल का SEO और 3.5 साल का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है !! नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में आपको हमारे द्वारा लिखा गया ब्लॉग कैसा लगा. बताना न भूले - धन्यवाद 😊😊😊 !!