(Joint & Nuclear) (Small & Large) family एकल परिवार और संयुक्त परिवार में अंतर !!

0
11
एकल परिवार और संयुक्त परिवार में क्या अंतर है | Difference Between Joint Family and Nuclear Family in Hindi !!

नमस्कार दोस्तों…भारतवर्ष जो की एक महत्वपूर्ण नाम है हम सब के लिए जिसे न केवल भारतीय ही अहमियत देते हैं बल्कि बाहरी मुल्क भी इसे काफी महत्व देते हैं और ये सब अभी से नहीं कलयुग के आरम्भ से ही शुरू हो गया था अर्थात हमारे धन, हमारी संस्कृति, हमारा प्यार सभी विदेशों में जाना जाता था इसलिए विदेशी लोगों ने हमपे कई बार कब्जा कर हमारी हर स्वत्रता को अपने भीतर कर खुद को शक्तिशाली साबित करने की कोशिश की और हमारे प्यार और संस्कृति को अपना बना खुद को सर्वश्रेष्ट साबित करने की कोशिश की. जिसमे वो सफल भी हुए क्यूंकि हमने कुछ कमियां कर दी थी जिसके कारण उनके ओछे विचारों ने हमे उनका दास बना दिया था लेकिन इनके विचार हमारी एकता से अधिक ताकतवर नहीं साबित हुए और फिर एक दिन ऐसा आया कि हम भारतियों ने मिल अंग्रेजों और दूसरे विदेशियों को यहां से मार भगाया।

भारतवर्ष में जब भी कोई विदेशी आता तो वो सबसे पहले सोने की चिड़िया भारत को उसके संस्कारों के लिए जानता। पहले के समय में सभी परिवार सयुंक्त रूप से रहते थे जिसमे बड़ों को आदर दिया जाता, छोटों को प्रेम मिलता और सभी को प्यार और आशीर्वाद मिलता। लेकिन बाद में जब विदेशियों ने हमपे अपना साम्राज्य बना लिया तब हमारी यही सब एकता धीरे धीरे उनके हिसाब से ढलती चली गयी और पता ही नहीं चला कब हमने उनके रीती रिवाज को अपनाना शुरू कर दिया.

जिसके बाद सयुंक्त परिवार आदि एकल परिवार में बदलने लगे और लोग अपने बड़े, भाई बंधुओं के साथ न रह के अपने बीवी बच्चों के साथ अलग अलग घर बनाने लगे जो भारत की संस्कृति नहीं थी जिसे विदेशियों ने अपनी कूटनीति से भारत में फैलाया. तो कुछ इन्ही बातों को ध्यान में रखते हुए हम जानेगे कि संयुक्त परिवार और एकल परिवार क्या हैं और इनमे क्या क्या अंतर होते हैं और दोनों के क्या क्या फायदे और नुकसान हैं.

एकल परिवार क्या है | What is Nuclear (Small) Family in Hindi !!

एकल परिवार का अर्थ है कि एक ऐसा परिवार जिसमे एक से अधिक परिवार एक साथ न रह रहे हों जैसे कि: पति, पत्नी, और उनके बच्चे ही रहते हैं। ऐसे परिवार को Nuclear Family या एकल परिवार कहा जाता है. इस परिवार में एक ही वैवाहिक जोड़ी और उसके बच्चे रह सकते हैं इसमें सास, ससुर, बेटे, बहु आदि नहीं रह सकते। ये अधिकतर छोटे परिवार होते हैं।

सयुंक्त परिवार क्या है | What is Joint (Large) Family in Hindi !!

एक ऐसा परिवार जहाँ माता पिता, बेटे बहु, पोते पोती, चाचा-चाची और ताऊ ताई आदि एक साथ रहते हैं उसे हम सयुंक्त परिवार या Joint Family कहते हैं. ऐसे परिवार पुराने समय से चले आ रहे हैं इनमे बच्चे अपने माता पिता, दादा दादी के साथ अधिक समय बिता पाते हैं और बड़ों से अच्छी शिक्षा लेते हैं. ये परिवार अधिकतर बड़े होते हैं.

एकल परिवार और संयुक्त परिवार में क्या अंतर है | Difference Between Joint (Small) Family and Nuclear (Large) Family in Hindi !!

# एकल परिवार छोटे होते हैं जबकि सयुंक्त परिवार बड़े होते हैं.

# एकल परिवार में खर्चे कम होते हैं जबकि सयुंक्त में अधिक खर्चे होते हैं.

# एकल परिवार में लोगों को एकांत अधिक मिल पाता है जबकि सयुंक्त परिवार में इस चीज की कमी होती है.

# एकल परिवार में बच्चे अपने दादा दादी, नाना नानी के प्यार से वंचित रह जाते है जबकि सयुंक्त परिवार में उन्हें अपने दादा दादी, नाना नानी आदि का भरपूर प्यार और संस्कार मिल पाते हैं.

# एकल परिवार में सहायता के लिए कम लोग होते हैं जिनके कारण परेशानी आने पे दिक्क़ते बढ़ जाती हैं लेकिन सयुंक्त परिवार में बड़ी से बड़ी समस्या सभी मिल के सुलझा लेते हैं.

# एकल परिवार में अच्छी बुरी सलह के लिए किसी बड़े अनुभवी का साथ नहीं मिल पाता जबकि सयुंक्त में अनुभवी व्यक्ति की सलह से कई समस्या चुटकियों में सुलझ जाती हैं.

# एकल परिवार में बच्चे संस्कृति और संस्कारों में पीछे रह जाते हैं जबकि सयुंक्त परिवार में बच्चों को अच्छे संस्कार और संस्कृति को जानने का मौका मिल पाता है.

# एकल परिवार में यदि कोई एक व्यक्ति बीमार हो जाता है तो देखभाल के लिए कोई भी नहीं होता है जबकि सयुंक्त परिवार में यदि कोई बीमार हो जाता है तो सहायता और देखभाल के लिए कई लोग मिल जाते हैं और बड़ों का अनुभव भी मिलता है.

हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दिए गए इस आलेख को पढ़ कर अच्छा लगा होगा | अगर आपको इस आलेख में कोई गलती मिलती है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं । बेहतरीन जानकारी पाने के लिए हमें कमेंट बॉक्स में आप जिस के बारे में जानना चाहते हैं उसके बारे में जरूर बताएं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here