You are currently viewing भारतीय और पश्चिमी संस्कृति में क्या अंतर है !!

भारतीय और पश्चिमी संस्कृति में क्या अंतर है !!

नमस्कार दोस्तों…आज हम आपको “भारतीय और पश्चिमी संस्कृति” के विषय बताने जा रहे हैं. जैसा कि हम सब जानते हैं कि हर देश की अपनी अपनी संस्कृति और रहन सहन है. लेकिन सभी में काफी चीजें मिलती भी हैं और वहीं कुछ भिन्नताएं भी पायी जाती हैं. तो आज हम वही भिन्नताओं के विषय में बताने जा रहे हैं. आज हम बताएंगे कि “भारतीय और पश्चिमी संस्कृति में क्या अंतर है?”. लेकिन इसे बताने से पहले हम आपको अपने पाठकों से जुड़ी कुछ जानकारी देना चाहते हैं.

दोस्तों हम अपने ब्लॉग में जितने भी जबाब लेके आते हैं वो कहीं न कहीं लोगों के मन में उठने वाले प्रश्नो के जबाब हैं. जो हमे तब पता चल पाते हैं जब हमारे पाठक हमे वेबसाइट के कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के इनके जबाब पूछते हैं. हम उन सवाल का जबाब अवश्य लेके आते हैं. लेकिन कभी कभी हमे थोड़ा विलम्ब हो जाता है लेकिन आप लोगों द्वारा पूछे गए सवाल के उत्तर हम आपको देने की पूरी कोशिश करते हैं. तो यदि आप लोगों के मन में कोई सवाल हो तो आप भी कमेंट बॉक्स के जरिये हमसे पूछ सकते हैं. तो चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक.

Difference between Indian and Western Culture in Hindi | भारतीय और पश्चिमी संस्कृति में क्या अंतर है !!

Difference between Indian and Western Culture in Hindi | भारतीय और पश्चिमी संस्कृति में क्या अंतर है !!

भारत में भारतीय संस्कृति चलती है और पश्चिमी के कई देशों में पश्चिमी संस्कृति चलती है. तो चलिए जानते हैं इन्ही के विषय में.

स्वागत का तरीका !!

भारत में जब कोई व्यक्ति आता है तो उसका अभिवादन दोनों हाथों को जोड़ कर के करते हैं और साथ ही नमस्ते या नमस्कार बोलते हैं. यदि कोई छोटा बड़े का अभिवादन करता है तो वो बड़े के पैर छू के अभिवादन करते हैं.

वही पश्चिम में लोग एक दूसरे से हाथ मिला के उसका अभिवादन करते हैं.

भाषा !!

भारत में अलग अलग संस्कृति और भाषा का समावेश है. जिसमे लगभग 1650 भाषा होंगी और उनमे से बोली जाने वाली भाषा केवल 150 हैं. जैसे: पंजाबी, हिंदी, तेलगु, कन्नड़, हरयाणवी, बंगाली आदि.

वहीं पश्चिम में कई देश हैं जहां सब देश की अपनी अपनी भाषा हैं लेकिन अधिकतर लोग अंग्रेजी भाषा ही प्रयोग करते हैं. यहां अंग्रेजी के अलावा स्पेनिश, फ्रेंच, आदि भाषा भी बोली जाती हैं.

संगीत !!

भारत की यदि संगीत के मामले में बात करे तो भारत में “सा रे ग म प” का प्रचलन है जो कि पूरी तरह से क्लासिकल म्यूजिक है. वहीं पश्चिम में Do Ra Me Fa So La Ti का चलन है. इसके अलावा यहां Jazz, R n B, Rap, Pop, Rock आदि का भी चलन है.

नृत्य का रूप !!

भारत में कई प्रकार के अलग अलग नृत्य किये जाते हैं और वो सभी अपने अपने राज्य के संस्कृति से जुड़े हैं. जैसे: भांगड़ा, ओडिसी, कत्थक, भरतनाट्यम आदि. वहीं पश्चिम में सालसा, ब्रेक डांस, हिप हॉप का चलन है.

Difference between Indian and Western Culture in Hindi | भारतीय और पश्चिमी संस्कृति में क्या अंतर है !!

त्यौहार !!

भारत में बहुत सारे त्यौहार मनाये जाते हैं जैसे कि: होली, दिवाली, ईद, लोहरी, आदि. वही पश्चिम में Christmas, Halloween, Thanksgiving आदि त्यौहार काफी धूमधाम से मनाये जाते हैं.

 भोजन !!

भारत का भोजन दाल, चावल, सब्जी और रोटी आदि है जिसे रोजाना हम खाना पसंद करते हैं वहीं पश्चिमी भोजन थोड़ा भिन्न है यहां से. वहां पिज़्ज़ा, बरगर, कॉन्टिनेंटल फ़ूड आदि का चलन है.

शादियां !!

भारत में जितने राज्य, जितने धर्म उतनी तरह से शादी की जाती है. वहीं पश्चिम में लोग केवल चर्च जाके एक दूसरे को रिंग पहना के शादी करते हैं.

परिवार !!

भारत में जॉइंट और न्यूक्लियर दोनों प्रकार की फॅमिली में लोग रहते हैं. यहां के लोगों का मानना है कि साथ रहने से प्यार बढ़ता है. इसलिए यहाँ लोग सब साथ में रहना पसंद करते हैं. वहीं पश्चिम में लोग अलग अलग रहने में विश्वास करते हैं.

लिव इन रिलेशनशिप !!

भारत में लिव इन रिलेशनशिप को गलत माना जाता है, यहां के लोगों का मानना है कि शादी से पहले ये ठीक नहीं होता है. वहीं पश्चिम में लोग इसे आम बात मानते हैं. और आमतौर पे ये साधारण बात है.

उम्मीद है दोस्तों कि आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी होगी और आपके काफी काम भी आयी होगी. यदि फिर भी कोई गलती आपको हमारे ब्लॉग में दिखे या आपके मन में कोई अन्य सवाल या सुझाव हो तो वो भी आप हमसे पूछ सकते हैं. हम पूरी कोशिश करेंगे उस सवाल का जबाब आपको देने और आपके सुझाव को समझने और उसे पूरा करने की. धन्यवाद !!!

Ankita Shukla

✔️ izoozo.com Provide Hindi & English Content Writing Services @ low Cost ✔️अंकिता शुक्ला Oyehero.com की कंटेंट हेड हैं. जिन्होंने Oyehero.com में दी गयी सारी जानकारी खुद लिखी है. ये SEO से जुडी सारे तथ्य खुद हैंडल करती हैं. इनकी रूचि नई चीजों की खोज करने और उनको आप तक पहुंचाने में सबसे अधिक है. इन्हे 4.5 साल का SEO और 6.5 साल का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है !! नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में आपको हमारे द्वारा लिखा गया ब्लॉग कैसा लगा. बताना न भूले - धन्यवाद ??? !!

Leave a Reply