(Karma & Kriya) कर्म और क्रिया में क्या अंतर है !!

नमस्कार दोस्तों…आज हम आपको “कर्म और क्रिया” के विषय में जानकारी देने जा रहे हैं. आज हम आपको बताएंगे कि “कर्म और क्रिया क्या हैं और इनमे क्या अंतर होता है?”. तो चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक.

कर्म क्या है | What is karma in Hindi !!

किसी भी साधारण बोलचाल की भाषा में कर्म से तातपर्य “क्रिया” से होता है. और हिंदी व्याकरण के अनुसार क्रिया करने के बाद मिलने वाले फल के आश्रय को कर्म कहते हैं।

उदाहरण: मैं घर जा रही हूँ. (“घर” गमन क्रिया के फल का आश्रय होने के नाते “जाना क्रिया’ का कर्म है।)

क्रिया क्या है | What is kriya in Hindi !!

किसी भी शब्द से किसी प्रकार के कार्य का करना या होना पाया जाता है तो उसे क्रिया का नाम दिया जाता है.

जैसे कि: जाना, नहाना, पीना, रोना, खाना, आदि. इस सब में कुछ न कुछ कार्य हो रहा है. इसलिए ये सभी क्रिया कहलायेंगे.

उदाहरण: मैं घर जा रही हूँ. (इसमें क्रिया जाना है).

Difference between Karma and Kriya in Hindi | कर्म और क्रिया में क्या अंतर है !!

# क्रिया करने के बाद मिलने वाले फल के आश्रय को कर्म कहते हैं और जब किसी शब्द से किसी प्रकार के कार्य का करना या होना पाया जाता है तो उसे क्रिया का नाम दिया जाता है.

# उदाहरण: मैं खाना खा रहा हूँ.

# इसमें खा रहा हूँ (क्रिया) है.

# “राम घर जाता है’ इस उदाहरण में “घर” गमन क्रिया के फल का आश्रय होने के नाते “जाना क्रिया’ का कर्म है।

आशा है हमे कि आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी से काफी हद तक लाभ अवश्य मिला होगा और साथ ही आपको हमारा ब्लॉग पसंद भी आया होगा. यदि फिर भी आपको कोई त्रुटि दिखाई देती है, या कोई सवाल या सुझाव आपके मन में आता है. तो आप हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के अपने सुझाव बता या सवाल पूछ सकते हैं. हम पूरी कोशिश करेंगे कि हम आपकी उम्मीदों पे खरा उतर पाएं। धन्यवाद !!!

Ankita Shukla :अंकिता शुक्ला Oyehero.com की कंटेंट हेड हैं. जिन्होंने Oyehero.com में दी गयी सारी जानकारी खुद लिखी है. ये SEO से जुडी सारे तथ्य खुद हैंडल करती हैं. इनकी रूचि नई चीजों की खोज करने और उनको आप तक पहुंचाने में सबसे अधिक है. इन्हे 1.5 साल का SEO और 3.5 साल का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है !! नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में आपको हमारे द्वारा लिखा गया ब्लॉग कैसा लगा. बताना न भूले - धन्यवाद 😊😊😊 !!