X
    Categories: Gyan

(बल की परिभाषा) Definition of Force in Hindi !!

बल की परिभाषा | Definition of Force in Hindi !!

भौतिक विज्ञान में, बल एक सदिश राशि है जिससे किसी पिण्ड का वेग बदला जा सकता है। न्यूटन के गति के द्वितीय नियम के अनुसार, बल संवेग परिवर्तन के दर के अनुपाती होती है।

बल के द्वारा त्रिविम पिण्ड का घूर्णन भी किया जा सकता है, या दाब में भी बदलाव किया जा सकता है। जब बल से कोणीय वेग में बदलाव होता है, तो उसे बल आघूर्ण के नाम से जाना जाता है।

आर्किमिडीज़ और अरस्तू के कुछ अनुमान थे जिन्हे न्यूटन ने सत्रहवी सदी में ग़लत साबित कर दिया था। बीसवी सदी में अल्बर्ट आइंस्टीन ने उनके सापेक्षता सिद्धांत द्वारा बल की आधुनिक अवधारणा को प्रदर्शित किया था।

प्रकृति में चार प्रकार के मूल बल मौजूद हैं: गुरुत्वाकर्षण बल, विद्युत चुम्बकीय बल, प्रबल नाभकीय बल और दुर्बल नाभकीय बल।

बल की गणितीय परिभाषा

जहाँ F बल, संवेग P और समय t हैं।

Ankita Shukla: अंकिता शुक्ला Oyehero.com की कंटेंट हेड हैं. जिन्होंने Oyehero.com में दी गयी सारी जानकारी खुद लिखी है. ये SEO से जुडी सारे तथ्य खुद हैंडल करती हैं. इनकी रूचि नई चीजों की खोज करने और उनको आप तक पहुंचाने में सबसे अधिक है. इन्हे 1.5 साल का SEO और 3.5 साल का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है !! नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में आपको हमारे द्वारा लिखा गया ब्लॉग कैसा लगा. बताना न भूले - धन्यवाद 😊😊😊 !!