SIMM और DIMM में क्या अंतर है !!

0
8
Difference between SIMM and DIMM in Hindi | SIMM और DIMM में क्या अंतर है !!

नमस्कार दोस्तों….आज हम आपको “SIMM और DIMM” के विषय में बताने जा रहे हैं. SIMM का पूरा नाम “Single In-Line Memory Modules” और DIMM का पूरा नाम “Dual In-Line Memory Module” होता है. ये दोनों ही memory modules होते हैं, जिन्हे older DIP (Dual Inline Package) chips को eliminate करने के लिए इंवेंट किया गया था. ऐसा इसलिए किया गया था क्यूंकि DIP (Dual Inline Package) chips नाजुक हुआ करते थे और उन्हें इनस्टॉल करना भी कठिन होता था, क्योंकि उन्हें सॉकेट में छिद्रित करने की आवश्यकता होती थी.

चिप के पिन आसानी से सॉकेट में गलत तरीके से लग जाते थे और झुक जाते थे। इसलिए, जब इन चिप्स को सॉकेट्स से हटा दिया जाता था, तो उन्हें सीधा करने की आवश्यकता पड़ती थी, जिसके परिणामस्वरूप चिप्स को नुकसान हो जाता था और वे बेकार हो सकते थे। तब SIMM और DIMM मॉड्यूल तैयार किए गए थे जिन्हें प्रवेश करने की आवश्यकता नहीं होती है और ये सतह पर चढ़े हुए होते हैं। आज हम आपको SIMM औSIMM और DIMM मॉड्यूलर DIMM मॉड्यूल से जुडी जानकारी ही देने जा रहे हैं. तो चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक.

SIMM क्या है | What is SIMM in Hindi !!

SIMM क्या है | What is SIMM in Hindi !!

SIMM का पूरा नाम “Single In-Line Memory Modules” है जो एज कनेक्टर वाले छोटे सर्किट बोर्ड होते हैं, जिनमे रैम चिप को रखा जाता है. इन SIMM को सम्मिलित करने के लिए मदरबोर्ड पर स्लॉट की सुविधा दी जाती है. SIMM कनेक्टर और मदरबोर्ड पर स्थित स्लॉट मेटल के होते हैं, जैसे: सोना या टिन, आदि.

यदि कोई SIMM कनेक्टर सोने का बना होता है तो स्लॉट कनेक्टर भी सोने का होना चाहिए, अन्य धातु का नहीं। निचले किनारों के प्रत्येक पक्ष पर मौजूद धातु कनेक्टर कार्ड के माध्यम से प्रभावी ढंग से काम करता है, और बस एक सेट कनेक्टर का होता है जो एक समय में कार्यात्मक होता है। SIMM दो प्रकार के होते हैं: पहला 30 pins SIMM और दूसरा 72 pins SIMM का.

DIMM क्या है | What is DIMM in Hindi !!

DIMM क्या है | What is DIMM in Hindi !!

DIMM का पूरा नाम “Dual In-Line Memory Module” होता है, इसमें भी SIMM की तरह ही धातु कनेक्टर होते हैं, लेकिन इसमें कनेक्टर के दोनों साइड एक दूसरे पर निर्भर नहीं होते हैं. जो अब एडवांस्ड मदरबोर्ड आ रहे हैं उनमे 168, 184, 240 पिन डीआईएमएम का उपयोग होता है. जिसमे 3.3 वोल्ट बिजली की खपत होती है और 32 एमबी से 1 जीबी तक मेमोरी स्टोर भी कर सकते हैं।

DIMM दो प्रकार के होते हैं: पहला 168 pins DIMM और दूसरा 184 and 240 pins SIMM का.

simm vs dimm picture

Difference between SIMM and DIMM in Hindi | SIMM और DIMM में क्या अंतर है !!

# एक DIMM दो तरफा SIMM होता है, ऐसा इसलिए क्यूंकि SIMM इन-लाइन pairs में स्थापित किये जा सकते है जबकि DIMM पक्ष से स्वतंत्र होते है।

# SIMM में अधिकतम 32-bit channel होते हैं डाटा को ट्रांसफर करने के लिए जबकि DIMM 64-bit channel को सपोर्ट करता है.

SIMM द्वारा उपभोग की जाने वाली बिजली की मात्रा 5 वोल्ट होती है जबकि DIMM के लिए 3.3 वोल्ट होती है।

# SIMM एक पुरानी तकनीक हो चुकी है, वर्तमान में लोग DIMM का उपयोग मुख्य रूप से करने लगे है क्योंकि इसका प्रदर्शन SIMM से बेहतर है।

# SIMM मॉड्यूल अधिकतम 64 बिट्स पर स्टोर हो सकता है जबकि, डीआईएमएमDIMM 1 जीबी तक की पेशकश करता है।

आप सभी को हमारा ब्लॉग कैसा लगा हमे अवश्य बताएं और यदि कोई सवाल या सुझाव आपके मन में हो तो वो भी आप हमसे शेयर कर सकते हैं. इसके लिए आपको हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करना होगा. धन्यवाद !!