You are currently viewing KVA और KW में क्या अंतर है !!

KVA और KW में क्या अंतर है !!

नमस्कार दोस्तों…आज हम आपको “KVA और KW” के विषय में बताने जा रहे हैं. जैसा कि हम सब जानते हैं कि “KVA और KW” दो मात्रक हैं जिनका प्रयोग अलग अलग कारणों में किया जाता है. आज हम आपको इन्ही के विषय में बताने का प्रयास करेंगे। आज हम आपको “KVA और KW क्या है और इनमे क्या अंतर है?” बताने जा रहे हैं. तो चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक.

KVA क्या है | What is KVA in Hindi !!

KVA का पूरा नाम “kilo Volt Amperes” है, एक प्रकार का मात्रक है जो पावर को दर्शाता है. इसका प्रयोग तब किया जाता है जब पावर ‘apparent power’ के फॉर्म में किसी particular circuit या इलेक्ट्रिक system में होती है.

ये वोल्ट और एम्पीयर पर ही काम कर सकता है और किसी भी ट्रांसफार्मर में कॉपर और आयरन का प्रयोग होता है, जिसमे कॉपर वाल्ट के लिए और आयरन एम्पेयर के लिए प्रयोग होता है. KVA किसी भी पावर में अधिक देर तक नहीं रह सकता क्यूंकि उसमे कुछ लॉसेस आने लग जाते हैं और ये किलो वाट में convert हो जाता है.

KW क्या है | What is KW in Hindi !!

KW का पूरा नाम “Kilowatt” होता है. ये वास्तविक पावर अर्थात रियल पावर को दर्शाता है. इसमें पावर फैक्टर, एफ्फिसेनी और रेजिस्टेंस आदि काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. क्यूंकि KW को किलोवाट कहा जाता है जिससे साफ साफ देखा जा सकता है की ये 1000 वाट के बराबर होता है. Direct current सर्किट्स में kVA और kW, दोनों बराबर होते हैं क्यूंकि वोल्टेज और करंट दोनों phase से बाहर नहीं निकल सकते हैं. Apparent power’ और ‘real power’ दोनों समय समय पे बदलती रहती हैं. इसलिए दोनों को KW से ही दर्शाया जाता है.

kW एक रियल पावर की मात्रा को बताता है और kVA पावर के एक अंश को बता सकता है.

Difference between KVA and KW in Hindi | KVA और KW में क्या अंतर है !!

# KW का पूरा नाम “Kilowatt” और KVA का पूरा नाम “kilo Volt Amperes” है.

# kVA को किसी सर्किट या इलेक्ट्रिक सिस्टम की ‘apparent power’ के रूप में जाना जाता है वहीं kW को किसी सर्किट या इलेक्ट्रिक सिस्टम की “रियल पावर” के रूप में जाना जाता है.

# Direct current circuits, में दोनों समान होते हैं. क्यूंकि वोल्टेज और करंट दोनों phase से बाहर नहीं निकल सकते हैं.

kW एक actual पावर की मात्रा को बताता है और kVA पावर के एक अंश को बता सकता है.

# ‘apparent power’ और ‘real power’ दोनों को KW से व्यक्त किया जा सकता है. क्यूंकि ये जगह जगह पे बदलते रहते हैं.

# kW (real power) को सॉल्व करने के लिए एक अलग वेरिएबल Power Factor (PF) का इस्तेमाल किया जाता है.

# DC circuits में kVA और KW में कोई अंतर नहीं होता है क्यूंकि इसमें यूनिटी बनी रहती है.

# KW = kVA x Power Factor;

# लेकिन DC circuits में दोनों में कोई अंतर नहीं होता है और ये  kW = kVA रहते हैं.

उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा दी गयी इनफार्मेशन से कुछ लाभ अवश्य मिला होगा और साथ ही आपको हमारा ब्लॉग पसंद भी आया होगा. यदि फिर भी आपको कोई गलती दिखाई देती है, या कोई सवाल या सुझाव आपके मन में आता है. तो आप हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के बता या पूछ सकते हैं. हम पूरी कोशिश करेंगे कि हम आपकी उम्मीदों पे खरा उतर पाएं। धन्यवाद !!!

Ankita Shukla

✔️ izoozo.com Provide Hindi & English Content Writing Services @ low Cost ✔️अंकिता शुक्ला Oyehero.com की कंटेंट हेड हैं. जिन्होंने Oyehero.com में दी गयी सारी जानकारी खुद लिखी है. ये SEO से जुडी सारे तथ्य खुद हैंडल करती हैं. इनकी रूचि नई चीजों की खोज करने और उनको आप तक पहुंचाने में सबसे अधिक है. इन्हे 4.5 साल का SEO और 6.5 साल का कंटेंट राइटिंग का अनुभव है !! नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में आपको हमारे द्वारा लिखा गया ब्लॉग कैसा लगा. बताना न भूले - धन्यवाद ??? !!

Leave a Reply